खरगोश की पूरी जानकारी, खरगोश पालना कितना शुभ

खरगोश की पूरी जानकारी ( Rabbit full details )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

खरगोश एक बहुत ही सुन्दर, प्यारा और मासूम जानवर है, ‘खरगोश की पूरी जानकारी‘, अगर है घर में तो हम उसके बारे में आपको पूरी जानकारी दे रहे हैं जिससे आप उसे आराम से पाल सकें और उसकी ज़रूरतों को आसानी से समझ सकें। खरगोश एक सामाजिक प्राणी है और समूह में रहना पसंद करते हैं। जब यह खुश होते हैं तो इनकी उछाल-कूद मन को मोह लेती है बच्चे भी इनके साथ बहुत ज्यादा खुश रहते हैं। हिन्दू धर्म में इन्हें घर में पालना शुभ माना जाता है। आइये जानते हैं ‘खरगोश की पूरी जानकारी’ के बारे में –

खरगोश क्या खाता है ( Rabbit food )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

खरगोश एक शाकाहारी प्राणी है इसलिए इसका खान-पान बहुत सादा होता है, इसलिए खरगोश पालना बहुत आसान है। यह घास, दाना और आपकी रसोईघर का बचा खाना खा-पीकर बड़े आराम से अपना जीवन गुजार लेते हैं। इन्हें दिन में केवल १०० ग्राम भोजन की ही आवश्यकता होती है जो इसे बचे दूध, बचे फल और हरी घास से आराम से पूरी हो जाती है।

खरगोश की प्रजातियां (Rabbit breeds )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

खरगोश लेपोरिडे परिवार में आते हैं शोधकर्ताओं के अनुसार जो जीवाश्म हमें मिले हैं उनके आधार पर हम कह सकते हैं कि अब तक खरगोश की 50 से 55 प्रजातियों की पहचान कर ली गयी है जिसमे अंगोरा, खरहा, सखा, जॉइंट मुख्य हैं। इसमें सबसे छोटे और कम वजन के खरगोश नीदरलैंड और पोलैंड में पाए जाते हैं। अंगोरा खरगोश से ऊन प्राप्त की जाती है जो बहुत उच्च क़्वालिटी की होती है। इसके अलावा इनके मांस के लिए भी इनका पालन किया जाता है इस मामले में चाइना सबसे आगे है।

खरगोश की विशेषताएं ( Features of Rabbits )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

इस प्यारे से और कमज़ोर मासूम जानवर की कई प्रमुख विशेषताएं इसे प्रकृति ने अपने बचाव के लिए उपहार स्वरूप प्रदान की हुई हैं जिससे यह कमज़ोर होने के बाबजूद शिकारी जानवरों से अपनी रक्षा करता है l खरगोश पालना बहुत आसान है।

खरगोश के कान उसके शरीर के अनुपात से काफी बड़े होते हैं और इनके सुनने की शक्ति भी बहुत ज्यादा होती है ये बहुत दूर की छोटी सर आवाज को भी सुन लेते हैं और खतरा होने पर अपने बचाव के लिए छिप जाते हैं इसी प्रकार से इनके देखने की शक्ति भी बहुत होती है और ये 360 डिग्री तक देख लेते हैं l

खरगोश कभी सीधा नहीं दौड़ता

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

खरगोश वैसे तो बहुत फुर्तीला जानवर होता है और आसानी से शिकारियों के हाथ नहीं आता लेकिन जब उसके पीछे शिकारी लग जाता है तो खरगोश कभी सीधा नहीं भाग्य वह हमेशा ही टेड़ा भागता है जिससे बड़े जानवर को भागते हुए दिशा बदलने में समय लग जाता है और खरगोश को उससे दूर होना क्क समय मिल जाता है l

खरगोश को सब्से ज्यादा अपनी जान का खतरा भेड़िया, लोमड़ी, कुत्ता, बिल्ली और पक्षियों में उल्लू, चील और बाज़ से होता है ल और इन सबसे ज्यादा इंसान इस मासूम की जान का दुश्मन है इंसान अपने खाने के लिए इसके मांस ,और ऊन व् जूते के लिए इसकी खाल के लिए इसे मारते हैं l

Also read –

कछुआ कौन सा और कैसे पालें, पूरी जानकारी

खरगोश का पाचनतंत्र कमजोर होता है खरगोश का पाचनतंत्र बहुत कमजोर होता है आपको जानकर हैरानी होगी खरगोश अपने मल को खा लेता है और इसका करने यह है की पाचन तंत्र कमज़ोर होने के कारण यह एक बार में अपने खाये भोजन को ठीक से पचा नहीं पाता इसलिए इसके मल में कई सारे पौष्टिक तत्व ऐसे ही बाहर आ जाते हैं जिसे यह दोबारा खाकर ठीक से पूछा लेता है l

क्या खरगोश को दूध पिला सकते हैं ( Can we give milk to rabbit )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

नहीं, खरगोश को दूध नहीं देना चाहिए क्योकि उसका पाचन तंत्र बहुत कमज़ोर होता है और दूध वह आसानी से नहीं पचा पाता है l दूध में लेक्टोस होता है और खरगोश को पचना कठिन हो जाता ये बीएस अपनी माँ का दूध ही आसानी से पचा पाते हैं l

खरगोश कितना तेज़ दौड़ता है ( How fast does a rabbit run )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

Also read-

घर में पालें ये 5 पेट्स, इनका पालना होता है बहुत शुभ

खरगोश की पिछली टांगे अगली टांगों से मज़बूत और लम्बी होती हैं जो उसे तेज़ दौड़ने में मदद करती हैं। जब खरगोश की किसी शिकारी के कारण जान पर बन आती है तो यह ६५ किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ लेता है।

खरगोश की प्रजनन क्षमता ( Rabbit Fertility )

खरगोश की पूरी जानकारी
खरगोश की पूरी जानकारी

खरगोश की प्रजनन क्षमता बहुत तेज़ होती है मादा खरगोश ६ महीने की उम्र से ही बच्चे देना शुरू कर देती है और साल में तीन या चार बार बच्चे देती है। मादा खरगोश एक बार में ५ से ६ बच्चे देती है और इसके गर्भावस्था का समय ३० से ३५ दिन का होता है।

खरगोश के रोग ( Rabbit diseases )

वैसे तो खरगोश आसानी से बीमार नहीं होते हैं और ये अक्सर स्वथ्य रहते हैं। इसका कारण है कि इनमे रोगों का प्रकोप बहुत ही कम होता है अगर इनकी ठीक प्रकार से देख-भाल की जाए तो रोग इनसे दूर ही रहते हैं। इनके मुख्य रोगों में छींकना, आँखें आ जाना, गर्म और ठंडा लगना, गर्दन टेढ़ी हो जाना और पिछले पैरों में घाव हो जाना है जो आसानी से देसी दवाओं से भी दूर हो जाते हैं।

FAQS खरगोश की पूरी जानकारी

QUES- क्या खरगोश घर में पालना शुभ होता है ?

ANS- खरगोश घर में पालने से घर में गुडलक आता है और घर से निगेटिव ऊर्जा दूर होती है तथा घर में बच्चे भी बहुत खुश रहते हैं।

QUES- खरगोश क्या खाता है ?

ANS- खरगोश एक शाकाहारी प्राणी है इसलिए इसका खान-पान बहुत सादा होता है, यह घास, दाना और आपकी रसोईघर का बचा खाना खा-पीकर बड़े आराम से अपना जीवन गुजार लेते हैं। इन्हें दिन में केवल १०० ग्राम भोजन की ही आवश्यकता होती है।

QUES- खरगोश कितनी तेज़ दौड़ता है ?

ANS- खरगोश की किसी शिकारी के कारण जान पर बन आती है तो यह ६५ किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ लेता है।

QUES- खरगोश की प्रजनन क्षमता कैसी होती है ?

ANS- खरगोश की प्रजनन क्षमता बहुत तेज़ होती है मादा खरगोश 6 महीने की उम्र से ही बच्चे देना शुरू कर देती है और साल में तीन या चार बार बच्चे देती है। मादा खरगोश एक बार में 5 से 6 बच्चे देती है और इसके गर्भावस्था का समय 30 से 35 दिन का होता है।

QUES- क्या खरगोश को दूध पिला सकते हैं ?

ANS- नहीं, खरगोश को दूध नहीं देना चाहिए क्योकि उसका पाचन तंत्र बहुत कमज़ोर होता है।

दोस्तों, खरगोश की पूरी जानकारी पोस्ट कैसी लगी हमें कमैंट्स के द्वारा ज़रूर बताएं और हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करना न भूलें। धन्य्वाद

5/5 - (39 votes)

Leave a Comment